ज्ञानगंगा वन्यजीव अभयारण्य । Dnyanganga Wildlife Sanctuary

ज्ञानगंगा वन्यजीव अभयारण्य, महाराष्ट्र । Dnyanganga Wildlife Sanctuary, Maharashtra


Dnyanganga Wildlife Sanctuary



ज्ञानगंगा वन्यजीव अभयारण्य से जुड़े सभी महत्वपूर्ण जानकारी ( All Information about Dnyanganga Wildlife Sanctuary )

ज्ञानगंगा वन्यजीव अभयारण्य महाराष्ट्र के बुलढाणा जिले में स्थित है यह अभयारण्य बुलढाणा शहर से 28 किमी और खामगाँव शहर से 20 किमी दूरी पर ज्ञानगंगा नदी के पास है ज्ञानगंगा नदी, गंगा नदी की एक प्रमुख सहायक नदी है। ज्ञानगंगा अभयारण्य 205 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र में फैला हुआ है यह अभयारण्य महाराष्ट्र के मेलाघाट टाइगर रिजर्व का एक हिस्सा है इस अभयारण्य में 2 झीलें हैं इस झील के पानी से इस अभयारण्य के वन्यजीव अपनी प्यास बुझाते हैं।

ज्ञानगंगा अभयारण्य बुलढाणा जिले की बुलढाणा , चिखली , मोताला एवं खामगांव इन चार तहसिलों में फैला हुआ है । इस अभयारण्य का कुछ हिस्सा खामगांव वन विभाग एवं कुछ इलाका बुलढाणा वन्यजीव विभाग के अंतर्गत आता है इसलिए ज्ञान गंगा अभयारण्य को बुलढाणा व खामगांव दो रेंज में विभाजित किया गया है 
इसके अलावा बुलढाणा वन्यजीव विभाग ने यहां जानवरों के लिए पानी की समस्या को देखते हुए बुलढाणा रेंज में कई कृत्रिम तालाबों का निर्माण करवाया गया है।


ज्ञानगंगा वन्यजीव अभ्यारण में पाए जाने वाले वन्यजीव :-

ज्ञानगंगा वन्यजीव अभयारण्य बड़ी संख्या में वन्यजीवो का बसेरा है ज्ञानगंगा अभयारण्य में कई प्रकार के वन्यजीव देखने को मिलते है जिसमें जंगली सुअर , हिरन , नीलगाय , सियार देखने को मिलते है। भालु व तेंदुए इस अभयारण्य के मुख्य वन्यजीव हैं।

इसके अलावा भौंकने वाले हिरण, नीले बैल, चित्तीदार हिरण, लकड़बग्घा, जंगली बिल्लियाँ और गीदड़ों के कारण यह अभयारण्य पर्यटकों के लिए एक आकर्षण का केंद्र है फरवरी से मई तक के बीच इस अभयारण्य के जंगली जानवरों को सबसे अच्छी तरह देखा जाता है।  इस अभयारण्य में पक्षियों की लगभग 150 प्रजातियां पाई जाती है
विभिन्न जानवरों और पक्षियों की प्रजातियों के लिए ज्ञानगंगा वन्यजीव अभयारण्य एक प्राकृतिक आवास है।

 

इन्हें भी पढ़ें :- 


Leave a Comment