Bharat Ke Pramhuk Bandargah । भारत के 13 प्रमुख बंदरगाह की सूची

बंदरगाह जिसका उपयोग मुख्य रूप से व्यापार के लिए किया जाता है बंदरगाह समुद्र के रास्ते से विदेश से व्यापार करने का एकमात्र साधन है और वर्तमान समय में भारत के कुल विदेशी व्यापार का लगभग 95% समुद्र के रास्ते से ही होता है और समुद्र के रास्ते व्यापार करने का एकमात्र साधन ये बंदरगाह है इसलिए भारत के आर्थिक और व्यापारिक दृष्टि से इन बंदरगाह का एक विशेष स्थान है।

आज हम इस आर्टिकल में आपको भारत के प्रमुख बंदरगाहों की सूची ( Bharat Ke Pramhuk Bandargah ) उपलब्ध करवा रहे हैं इसके साथ ही इस लेख में भारत के सभी 13 प्रमुख बंदरगाहों से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण जानकारी भी उपलब्ध कर रहे हैं यदि आप ही भारत के सभी प्रमुख बंदरगाहों के बारे में जानना चाहते हैं तो हमारे इस आर्टिकल को ध्यान से एवं अंत तक जरूर पढ़ें ।

बंदरगाह के प्रकार ( Types of Port )

निर्माण के आधार पर बंदरगाह को दो प्रकार से विभाजित किया गया है –

1. कृत्रिम बंदरगाह

वैसे बंदरगाह जिसका निर्माण व्यापार या अन्य किसी उद्देश्य से मानवों द्वारा अर्थात कृत्रिम तरीके से किया गया है कृत्रिम बंदरगाह के नाम से जाना जाता है जैसे  महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले में स्थित जवाहरलाल नेहरू बंदरगाह भारत का एक प्रमुख कृत्रिम बंदरगाह है जिसका निर्माण मुख्य रूप से विदेशो से वस्तुओं के आयात – निर्यात के लिए किया जाता है ।

2. प्राकृतिक बंदरगाह

वैसे बंदरगाह जो प्राकृतिक रूप से अपने स्वरूप में आया हो अर्थात जिन बंदरगाहों का निर्माण मानव द्वारा नहीं किया गया है बल्कि जिनका निर्माण स्वयं प्रकृति के द्वारा हुआ है और इनका उपयोग समुद्र के रास्ते विदेशों से व्यापार के लिए किया जाता है प्राकृतिक बंदरगाह के रूप में जाना जाता है जैसे – भारत के तमिलनाडु राज्य में स्थित विशाखापत्तनम बंदरगाह भारत का एक प्रमुख प्राकृतिक बंदरगाह है जिसका निर्माण प्राकृतिक रूप से हुआ है ।

👉👉2500+  Topic Wise all Subject GK Question and answer in Hindi

भारत के 13 प्रमुख बंदरगाहों की सूची ( Bharat ke 13 Pramukh Bandargah ki Suchi )

प्रमुख बंदरगाहराज्यसमुद्र तटप्रकार
1.मुंबई बंदरगाहमहाराष्ट्रअरब सागरप्राकृतिक बंदरगाह
2.जवाहरलाल नेहरू बंदरगाहमहाराष्ट्रअरब सागरकृत्रिम बंदरगाह
3.कांडला बंदरगाहगुजरातअरब सागरप्राकृतिक बंदरगाह
4.मोरमुगाओ बंदरगाहगोवाअरब सागरप्राकृतिक बंदरगाह
5.न्यू मैंगलोर बंदरगाहकर्नाटकअरब सागरप्राकृतिक बंदरगाह
6.कोलकाता बंदरगाहपश्चिम बंगालहुगली नदीप्राकृतिक बंदरगाह
7.पारादीप बंदरगाहउड़ीसाबंगाल की खाड़ीप्राकृतिक बंदरगाह
8.विशाखापत्तनम बंदरगाहआंध्रप्रदेशबंगाल की खाड़ीप्राकृतिक बंदरगाह
9.एन्नौर बंदरगाहतमिलनाडुबंगाल की खाड़ीकृत्रिम बंदरगाह
10.चेन्नई बंदरगाह तमिलनाडुबंगाल की खाड़ीकृत्रिम बंदरगाह
11.तूतीकोरिन बंदरगाहतमिलनाडुबंगाल की खाड़ीप्राकृतिक बंदरगाह
12.कोचीन बंदरगाहकेरलअरब सागरप्राकृतिक बंदरगाह
13.पोर्टब्लेयर बंदरगाहअंडमान निकोबार द्वीप समूहबंगाल की खाड़ीप्राकृतिक बंदरगाह

 

भारत के प्रमुख बंदरगाह से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण जानकारी

1. मुंबई बंदरगाह ( Mumbai Port )

मुंबई बंदरगाह भारत के महाराष्ट्र राज्य में स्थित भारत का एक प्रमुख बंदरगाह है जिसे बॉम्बे बंदरगाह भी कहा जाता है यह भारत के सबसे पुराने बंदरगाहों में से एक है मुंबई बंदरगाह भारत के महाराष्ट्र राज्य में स्थित एक प्राकृतिक बंदरगाह है जो भारत के सबसे व्यस्त बंदरगाहों में से एक है कहा जाता है कि वर्तमान समय में इस बंदरगाह में भारत की कुल विदेशी समुद्री निर्यात का पांचवा हिस्सा इसी बंदरगाह के द्वारा होता है अर्थात वर्तमान समय में भारत के द्वारा समुद्र के रास्ते जो भी सामग्री निर्यात किया जाता है उसका लगभग 20% निर्यात इसी बंदरगाह के द्वारा होता है ।

इसके अतिरिक्त इस बंदरगाह में एक द्वीप भी मौजूद है जिसमें कच्चे और पेट्रोलियम उत्पादों को  सुरक्षित रखा जाता है ।

2. न्हावा शेवा बंदरगाह / जवाहरलाल नेहरू बंदरगाह ( Jawaharlal Nehru Port )

न्हावा शेवा बंदरगाह जिसे जवाहरलाल नेहरू बंदरगाह के नाम से भी जाना जाता है यह भारत के सबसे व्यस्त बंदरगाहों में से एक है जो महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले में स्थित है कहां जाता है कि भारत का सबसे बड़ा कंटेनर हैंडलिंग बंदरगाह है क्योंकि देश की करीब 56% कंटेनरों का परिवहन इसी बंदरगाह के द्वारा होता है इस बंदरगाह के माध्यम से कपड़ा, मशीनरी, वनस्पति तेल, रसायन आदि सामानों का परिवहन किया जाता है ।

जवाहरलाल नेहरू बंदरगाह का निर्माण मुख्य रूप से मुंबई बंदरगाह के दबाव को कम करने हेतु नवी मुंबई में आधुनिक शैली के द्वारा विकसित किया गया है यह भारत का एक आधुनिकतम और कृत्रिम बंदरगाह हैं।

जवाहारलाल नेहरू बंदरगाह भारत के सर्वश्रेष्ठ बंदरगाहों में से एक है क्योंकि इस बंदरगाह में  अत्याधुनिक कम्प्यूटर नियंत्रित तकनीकों का उपयोग किया गया हैं इस बंदरगाह से मुख्य रूप से सूतीवस्त्रों का निर्यात किया जाता है । 

वर्ष 1988-89 में जवाहर लाल नेहरू बंदरगाह को भारत का 12 वां सबसे बड़ा बंदरगाह घोषित किया गया था। यह भारत का विशालतम कंटेनर पत्तन है । इसके साथ ही भारतीय रेलवे द्वारा बनाया गया प्रसिद्ध वेस्टर्न डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर इसी बंदरगाह में स्थित है । 

3. कांडला बंदरगाह ( Kandla Port )

कांडला बंदरगाह जिसे वर्तमान में दीनदयाल बंदरगाह के नाम से भी जाना जाता है भारत के गुजरात राज्य के कच्छ जिले में स्थित देश का एक प्रमुख बंदरगाह है यह बंदरगाह गुजरात में कच्छ की खाड़ी से लगभग 90 किलोमीटर दूर स्थित है ।

कांडला बंदरगाह भारत के सबसे व्यस्त बंदरगाहों में से एक है यह बंदरगाह 1900 के दशक के मध्य से अस्तित्व में आय इस बंदरगाह का निर्माण मुख्य रूप से देश के पश्चिमी जल मार्ग क्षेत्र में समुद्री बंदरगाहों की कमी को पूरा करने के लिए किया गया था इस बंदरगाह में बड़ी मात्रा में खाद्यान्न और तेलों का आयात – निर्यात किया जाता है इसके अतिरिक्त इस बंदरगाह के द्वारा मशीनरी, पेट्रोलियम उत्पाद और रसायन वस्त्रो का भी परिवहन किया जाता है।

4. मोरमुगाओ बंदरगाह ( Mormugao Port )

मोरमुगाओ बंदरगाह भारत के सबसे पुराने बंदरगाह में से एक है जो भारत के पश्चिमी तट पर गोवा राज्य के मोरमुगाओ शहर में स्थित है। यह बंदरगाह गोवा में जुआरी नदी के मुहाने पर  दक्षिणी भाग में है।

इस बंदरगाह से मुख्य रूप से लौह अयस्क का निर्यात किया जाता है इस बंदरगाह में मुख्य रूप से ईरान को लौह अयस्क का निर्यात किया जाता है लौह अयस्क के अतिरिक्त इस बंदरगाह से मैग्नीज, कपास और नारियल का भी निर्यात किया जाता है।  इसके साथ ही मार्मोगोवा बंदरगाह भारत के प्रमुख पर्यटन स्थलों में से भी एक है ।

5. न्यू मैंगलोर बंदरगाह ( New Mangalore Port )

न्यू मैंगलोर भारत के कर्नाटक राज्य में गुरुपुरा नदी अरब सागर के संगम पर स्थित है न्यू मैंगलोर बंदरगाह कर्नाटक राज्य का सबसे बड़ा बंदरगाह एवं भारत का सातवां सबसे बड़ा बंदरगाह इसके साथ ही यह भारत के पूर्वी तट में स्थित सबसे बड़ा आंतरिक बंदरगाह है

न्यू मंगलौर बंदरगाह से मुख्यत लौह अयस्क का निर्यात किया जाता है लौह अयस्क के अलावा इस बंदरगाह से ग्रेनाइट, लड़की, उर्वरक, आदि का भी परिवहन किया जाता है इस बंदरगाह से मुख्य रूप से कर्नाटक के कुद्रेमुख लौह अयस्क की खदान से जापान को लौह अयस्क का निर्यात किया जाता है।

इन्हें भी पढ़ें – भारत के सभी रामसर स्थलों की सूची ( List of all Ramsar Sites in India in Hindi )
6. कोलकाता – हल्दिया बंदरगाह ( Kolkata Port ) 

कोलकाता बंदरगाह भारत के पश्चिम बंगाल राज्य कोलकाता शहर के हल्दिया में हुगली नदी के मुहाने पर स्थित है कोलकाता बंदरगाह को आधिकारिक तौर पर श्यामा प्रसाद मुखर्जी बंदरगाह के नाम से भी जाना जाता है । 

यह बंदरगाह भारत का सबसे पुराना पुराना बंदरगाह है जिसका निर्माण ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी के द्वारा मुख्य रूप से व्यापार के उद्देश्य से किया गया था भारत में अंग्रेजों के शासन के दौरान इस बंदरगाह ने समुद्री विदेशी व्यापार महत्वपूर्ण भूमिका निभाई वर्तमान समय में भी इस बंदरगाह के द्वारा अनेक सामानों का निर्यात किया जाता है इस बंदरगाह में मुख्य रूप से कोयला चमड़ा उद्योग, लोहा, स्टील, तांबा और चाय का निर्यात किया जाता है ।

कोलकाता बंदरगाह भारत के 13 सबसे प्रमुख व्यापारिक बंदरगाह में से एक है यह बंदरगाह की विशेषता यह है कि इस ट्विन डाक सिस्टम उपलब्ध है और इसके इसके साथ ही इस बंदरगाह में कंप्यूटर प्रणाली के द्वारा जहाजों को खाली करने की भी सुविधा उपलब्ध है ।

7. पारादीप बंदरगाह ( Paradeep Port )

पारादीप बंदरगाह उड़ीसा राज्य के जगतसिंहपुर ज़िले में स्थित राज्य का सबसे पुराना बंदरगाह है स्थित है  पारादीप बंदरगाह का निर्माण महानदी और बंगाल की खाड़ी के संगम से हुआ है यह बंदरगाह भारत के सबसे प्रमुख बंदरगाहों में से एक है ।

भारत की स्वतंत्रता के बाद शुरू होने वाला यह भारत के पूर्वी तट का सबसे पहला बंदरगाह है वर्ष 1966 में इसे भारत का एक प्रमुख बंदरगाह घोषित किया गया ।

वर्तमान समय में पारादीप बंदरगाह का संचालन ‘ पारादीप पोर्ट ट्रस्ट ‘ द्वारा किया जाता है । 

इस बंदरगाह से मुख्य रूप से लौह अयस्क और कोयले का परिवहन किया जाता है।

8. विशाखापत्तनम बंदरगाह ( Visakhapatnam Port )

विशाखापत्तनम बंदरगाह जिसे विजाग बंदरगाह के नाम से भी जाना जाता है भारत के आंध्र प्रदेश राज्य के विशाखापत्तनम शहर में स्थित है ।

विशाखापत्तनम बंदरगाह प्राकृतिक बंदरगाह है जो भारत के सबसे पुराने बंदरगाहों में से एक है यह देश का सबसे गहरा और सुरक्षित लैंडलॉक बंदरगाह है । 

अंग्रेजों द्वारा वर्ष 1933 में इस बंदरगाह को विदेशी व्यापार के उद्देश्य खोला गया था इस बंदरगाह में तीन प्रमुख बंदरगाह स्थित है ।

व्यापार की दृष्टि से विशाखापट्टनम बंदरगाह देश का चौथा सबसे बड़ा बंदरगाह है भारत के अधिकांश लौह अयस्क का निर्यात इसी बंदरगाह के द्वारा किया जाता है इस बंदरगाह से मुख्य रूप से लौह अयस्क, एल्यूमीनियम, पेलेट, कोयला और तेल का परिवहन किया जाता है ।

9. एन्नौर बंदरगाह या कामराजर पोर्ट ( Kamrajar Port )

एन्नौर बंदरगाह जिसे वर्तमान समय में कामराजर बंदरगाह के नाम से भी जाना जाता है भारत के तमिलनाडु राज्य में स्थित है यह बंदरगाह तमिलनाडु राज्य में स्थित चेन्नई बंदरगाह से 24 किलोमीटर दूर कोरोमंडल तट में स्थित भारत के 13 प्रमुख बंदरगाहों में से एक है ।

एन्नौर बंदरगाह एक सार्वजनिक कंपनी के रूप में पंजीकृत हैं और वर्तमान समय में इस बंदरगाह की 67 प्रतिशत हिस्सेदारी भारत सरकार के पास है इसके साथ ही यह बंदरगाह देश का पहला कम्प्यूटराइज बंदरगाह है ।

कामराजार बंदरगाह से मुख्य रूप से कोयले का परिवहन किया जाता है कोयले के अलावा इस बंदरगाह में पेट्रोलियम उत्पादों और लौह अयस्क का भी परिवहन किया जाता है ।

इन्हें भी पढ़ें :- भारत के सभी यूनेस्को विश्व धरोहर स्थलों की सूची ( UNESCO World heritage site in India )

10. चेन्नई बंदरगाह ( Chennai Port )

चेन्नई बंदरगाह भारत के तमिलनाडु राज्य के चेन्नई शहर में स्थित देंश का सबसे पुराना कृत्रिम बंदरगाह है वर्तमान समय में भारत के प्रमुख बंदरगाह में से एक है । 

चेन्नई बंदरगाह को सन 1881 में मद्रास बंदरगाह के रूप में बनाया गया था और इस बंदरगाह को उस समय मद्रास बंदरगाह के नाम से जाना जाता था ।

चेन्नई बंदरगाह को ब्रिटिश सरकार द्वारा सन् 1881 में व्यापार के लिए खोला गया था तथा सन् 1883 में इस बंदरगाह को भारत का पहला कंटेनर टर्मिनल बनाया गया था वर्तमान समय में यह भारत का दूसरा सबसे बड़ा कंटेनर बंदरगाह है ।

चेन्नई बंदरगाह से बड़े पैमाने पर लौह अयस्क, पेट्रोलियम उत्पाद , कोयला, ग्रेनाइट, उर्वरक आदि सामग्री का परिवहन किया जाता है

11. तूतीकोरिन बंदरगाह ( Tuticorin port )

तूतीकोरिन बंदरगाह तमिलनाडु राज्य के थूथुकुडी जिले में स्थित भारत एक प्रमुख क्रत्रिम बंदरगाह हैज्ञ। 27 जनवरी 2011 को तूतीकोरिन पोर्ट ट्रस्ट का नाम बदलकर चिदंबरनार रख दिया गया और अब इस  बंदरगाह को वी.ओ. चिदंबरनाथ बंदरगाह के नाम से जाना जाता है । 

मन्नार की खाड़ी में स्थित तूतीकोरिन बंदरगाह तमिलनाडु राज्य का दूसरा सबसे बड़ा भारत का चौथा सबसे बड़ा कंटेनर टर्मिनल पोर्ट है ।

व्यापारिक रूप से तूतीकोरिन बंदरगाह को बंगाल की खाड़ी में मोती मछली के पालन के लिए जाना जाता है ।

इस बंदरगाह से मुख्य रूप से श्रीलंका से सामग्री का परिवहन किया जाता है तूतीकोरिन बंदरगाह से मुख्य रूप से कोयला, तेल, चीनी, पेट्रोलियम उत्पाद, नमक आदि सामग्री का परिवहन किया जाता है ।

12. कोचीन बंदरगाह ( Kochin Port )

कोचीन बंदरगाह केरल राज्य के एर्नाकुलम जिले में स्थित है भारत का एक प्रमुख प्राकृतिक बंदरगाह है ।

कोचीन बंदरगाह वर्तमान में कोच्चि बंदरगाह के नाम से भी जाना जाता है यह बंदरगाह भारत के सबसे बड़े बंदरगाह में से एक है इसके साथ ही यह बंदरगाह भारत के प्रमुख जहाज निर्माण केंद्रों में से भी एक है ।

कोच्चि बंदरगाह से मुख्य रूप से चाय, कॉफी, मसाला, उर्वरक आदि सामग्री का विदेशों से आयात – निर्यात किया जाता है।

13. पोर्टब्लेयर बंदरगाह ( Port Blair Port )

पोर्टब्लेयर बंदरगाह भारत के केंद्र शासित प्रदेश अंडमान और निकोबार द्वीप में स्थित भारत के सबसे प्रमुख बंदरगाहों में से एक है ।

यह बंदरगाह भारत के अंडमान निकोबार द्वीप समूह में पोर्ट ब्लेयर शहर में स्थित है।

भारत के बंदरगाह से संबंधित कुछ पूछे जाने वाले प्रश्न :-

1. वर्तमान में भारत में कुल कितने बंदरगाह है ?

उत्तर :- भारत में कुल 13 प्रमुख बंदरगाह है जो व्यापारिक दृष्टि से भारत के लिए सबसे महत्वपूर्ण है इसके अलावा संपूर्ण भारत के सभी राज्यों को मिलाकर 200 मध्यम एवं छोटे बंदरगाह है।

2. भारत का सबसे बड़ा बंदरगाह कौन सा है ?

उत्तर :- भारत के गुजरात राज्य के किस जिले में स्थित कांडला बंदरगाह भारत का सबसे बड़ा बंदरगाह है आया तो निर्यात की दृष्टि से संपूर्ण विश्व के साथ जुड़ा हुआ है ।

3. भारत का सबसे पुराना कृत्रिम बंदरगाह/पत्तन कौन सा है ?

उत्तर :- भारत के तमिलनाडु राज्य में स्थित चेन्नई बंदरगाह भारत का सबसे पुराना कृत्रिम बंदरगाह है यह बंदरगाह लगभग 126 वर्ष पुराना है ।

4. भारत का सबसे बड़ा प्राकृतिक बंदरगाह कौन सा है ?

उत्तर :- भारत के महाराष्ट्र राज्य में स्थित मुंबई बंदरगाह देश का सबसे बड़ा प्राकृतिक बंदरगाह है।

इन्हें भी पढ़ें :- 

भारत के सभी बैंकों के मुख्यालय और टैगलाइन की सूची

भारतीय रिजर्व बैंक के सभी गवर्नरों की सूची ( Reserve Bank of India Governor list in Hindi )

भारत के प्रमुख मंदिरों की सूची ( famous temple of India )

Leave a Comment

close
%d bloggers like this: