शिक्षक दिवस – 5 सितंबर 2021 जानिए क्यों मनाया जाता है शिक्षक दिवस इसका महत्त्व और इतिहास

60th Teacher’s Day – 5 September 2021


60th Teacher's Day 2021


शिक्षक दिवस का महत्त्व और इतिहास :-

डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन की जयंती के उपलक्ष्य में प्रत्येक वर्ष 5 सितंबर को भारत में राष्ट्रीय शिक्षा दिवस के रूप में मनाया जाता है। 5 सितंबर का यह दिन शिक्षकों को समर्पित होता है इस दिन स्कूल, कॉलेज और सभी शिक्षण संस्थानों में शिक्षकों के सम्मान के लिए विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किये जाते हैं।

डॉ. राष्ट्रपति डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन स्वतंत्र भारत के प्रथम उपराष्ट्रपति एवं दूसरे राष्ट्रपति थे इनका जन्म 5 सितंबर 1888 को तमिलनाडु के तिरुमनी गांव में एक मध्यम वर्गीय ब्राह्मण परिवार में हुआ था।

डॉ. राधाकृष्णन को बचपन से कई परेशानियों का सामना करना पड़ा उन्होंने अपने बचपन की पढ़ाई तिरूमनी के धार्मिक स्कूलों से की । साल 1896-1900 के बीच उन्होंने अपनी पढ़ाई क्रिश्चियन मिशनरी संस्था लुथर्न मिशन स्कूल, तिरूपति से पूरी की इसके बाद
1902 में उन्होंने अपनी माध्यमिक परीक्षा उत्तीर्ण की और स्कॉलरशिप से पढ़ाई पूरी की। उन्हें मनोविज्ञान, इतिहास और गणित विषय में विशेष शिक्षा प्राप्त की इसके बाद उन्होंने विश्वविद्यालयों में शिक्षक की नौकरी की।

शिक्षा के क्षेत्र में उनके अभूतपूर्व योगदान के लिए डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन को साल 1954 में भारत के सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से सम्मानित किया गया।
 
डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन का शिक्षा के क्षेत्र में अहम योगदान था उनका मानना था कि संपूर्ण विश्व एक विद्यालय है वे कहते थे कि शिक्षा ही एकमात्र माध्यम है जिसके द्वारा किसी भी व्यक्ति के विचार और सोच को आसानी से बदला जा सकता हैं उनके महान विचारों और सोच ने कई युवाओं को प्रेरणा दी।  


हमारे जीवन में शिक्षक का महत्त्व :- 

प्रत्येक व्यक्ति के जीवन में शिक्षक की एक प्रमुख भूमिका होती है चाहे हम जीवन के किसी भी पड़ाव पर हो सभी को शिक्षक की आवश्यकता होती है शिक्षा उस दीपक के दिव्य ज्योति के प्रकाश की तरह है जिसके बिना संपूर्ण संसार अंधकारमय है।
शिक्षक के बिना हमारा संपूर्ण जीवन अंधकार में है चाहे कोई भी इंसान जीवन के किसी भी पड़ाव पर या कितने भी बड़े पद पर क्यों ना हो सबके जीवन में शिक्षक का एक विशेष महत्त्व है।

शिक्षक जो हमें ज्ञान देता है और हमें जीवन में आगे बढ़ने के लिए सही मार्ग दिखलाता है । हमारे इस महान देश भारत में शिक्षकों को मान-सम्मान, आदर तथा धन्यवाद देने और हमारे जीवन में शिक्षको के महत्व के बारे में बताने के लिए प्रत्येक वर्ष 5 सितंबर को ‘शिक्षक दिवस’ के रूप में मनाया जाता है। 

राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय शिक्षक दिवस से जुड़े कुछ महत्त्वपूर्ण जानकारी ( Some Important Information about National and International Teachers Day ) :- 

भारत में प्रत्येक वर्ष 5 सितंबर को डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जयंती पर शिक्षक दिवस मनाया जाता है परंतु वैश्विक स्तर पर अंतर्राष्ट्रीय शिक्षक दिवस प्रत्येक वर्ष 5 अक्टूबर को मनाया जाता है  

यूनेस्को द्वारा अंतर्राष्ट्रीय शिक्षक दिवस मनाने की घोषणा 1994 में की गई थी तब से प्रत्येक वर्ष 5 अक्टूबर को अंतर्राष्ट्रीय शिक्षक दिवस मनाया जाता है।

शिक्षकों के प्रति सहयोग को बढ़ावा देने और भविष्य की पीढ़ियों की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए शिक्षकों के महत्व के बारे जागरूकता फैलाने के उद्देश्य से इस दिन की शुरुआत की गई थी।

दुनिया के 100 से ज्यादा देशों में अलग-अलग तारीख पर शिक्षक दिवस मनाया जाता है।



Leave a Comment