Indian Geography in Hindi । भारत का भूगोल एवं भौगोलिक स्थिति

भारत पृथ्वी के उत्तर – पूर्वी गोलार्ध में स्थित है क्योंकि भारत पृथ्वी के उत्तरी गोलार्ध में स्थित है तथा अगर देशांतर रेखाओं के आधार पर देखा जाए तो भारत पृथ्वी के पूर्वी गोलार्ध में स्थित है इसलिए यह भी कहा जाता है कि भारत पृथ्वी के उत्तरी अक्षांश और पूर्वी देशांतर में स्थित है ।

भारत पृथ्वी के उत्तरी गोलार्ध में 8°4′ से 37°6′ तक विस्तारित है लेकिन अगर अंडमान निकोबार द्वीप को शामिल करके भारत के संपूर्ण भूमि को देखा जाए तो भारत का अक्षांशीय विस्तार 6°4′ से लेकर 33°6′ के बीच में है जबकि भारत का देशांतर विस्तार 68°6′ से 97°25′ पूर्वी देशांतर के बीच में स्थित है ।

भारत का क्षेत्रफल ( Area of India )  

भारत का क्षेत्रफल 32,86,200 वर्ग किलोमीटर है जो संपूर्ण विश्व के क्षेत्रफल का 2.42 प्रतिशत है ।

क्षेत्रफल के दृष्टिकोण से भारत विश्व का सातवां सबसे बड़ा देश है जबकि क्षेत्रफल की दृष्टि से विश्व में रूस का प्रथम स्थान है अर्थात क्षेत्रफल की दृष्टि से रूस दुनिया का सबसे बड़ा देश हैं जबकि क्षेत्रफल की दृष्टि से दुनिया का आठवां सबसे बड़ा देश अर्जेंटीना है ।

क्षैत्रफल की दृष्टि से भारत से पहले 6 सबसे बड़े देश

  1. रूस
  2. कनाडा
  3. चीन
  4. अमेरिका
  5. ब्राज़ील
  6. ऑस्ट्रेलिया

भारत की जनसंख्या ( population of India )

जनसंख्या की दृष्टि से देखा जाए तो भारत का विश्व में दूसरा स्थान है क्योंकि चीन के बाद सबसे अधिक जनसंख्या भारत में ही पाया जाता है 2011 की जनगणना के अनुसार संपूर्ण विश्व में लगभग 7 अरब लोग निवास करते हैं जिसमें से 1.21 अरब लोग भारत में निवास करते हैं 2011 की जनगणना के अनुसार विश्व की लगभग 17.5% जनसंख्या भारत मे निवास करती हैं ।

भारतीय राज्यों की बात की जाए तो जनसंख्या की दृष्टि से भारत का सबसे बड़ा राज्य उत्तर प्रदेश है जबकि जनसंख्या की दृष्टि से भारत का सबसे छोटा राज्य सिक्किम है 2011 की जनगणना के अनुसार सिक्किम की जनसंख्या 6 लाख 10 हजार 577 है ।

भारत की भौगोलिक स्थिति

भारत के भौगोलिक विसतार और स्थलीय लंबाई की बात की जाए तो भारत का पूर्व से पश्चिम की लंबाई 29 किलोमीटर है जबकि उत्तर से दक्षिण तक लंबाई 3214 किलोमीटर है जबकि भारत की स्थलीय सीमा की कुल लंबाई 15200 किलोमीटर है। इसके साथ ही चार दिशाओं में स्थित भारत के 4 मुख्य बिंदु भी है जो मुख्य रूप से भारत की सीमा को निर्धारित कहते हैं ।

चार दिशाओं में स्थित भारत के मुख्य बिंदु

1. भारत का पूर्वोतम बिंदु अरुणाचल प्रदेश राज्य में स्थित वालंगू है ।

2. भारत का सबसे पश्चिम बिंदु गुजरात में स्थित सर क्रीक हैं ।

3.भारत का सबसे उत्तरी बिंदु इंदिरा कॉल है । 

4. भारत का दक्षिणतम बिंदु मुख्य भूमि का कन्याकुमारी है ।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अंडमान निकोबार द्वीप समूह में स्थित इंदिरा पॉइंट को भारत की संपूर्ण भूमि का मुख्य बिंदु कहते हैं ।

भारत के पड़ोसी देश (Bharat ke Padosi desh)

अगर भारत के पड़ोसी देशों की बात करें तो वैसे तो भारत 9 देशों के साथ अपनी सीमा को साझा करता है अर्थात भारत 9 देशों के साथ अपनी अंतरराष्ट्रीय सीमा बनाता है अतः हम कह सकते हैं कि भारत के 9 पड़ोसी देश है लेकिन आपके अतिरिक्त जानकारी के लिए हम आपको बताना चाहेंगे कि भारत 7 देशों के साथ अपनी स्थलीय सीमा को साझा करता है ।

भारत के सभी 7 पड़ोसी देश है –
  1. बांग्लादेश
  2. चीन
  3. पाकिस्तान
  4. नेपाल
  5. म्यांमार
  6. भूटान
  7. अफगानिस्तान
  8. श्रीलंका
  9. मालदीव

भारत की अंतरराष्ट्रीय सीमाएं :-

भारत अपनी अंतरराष्ट्रीय सीमा को 9 देशों के साथ साझा करता है जिसमें से सबसे अधिक भारत, बांग्लादेश के साथ अपनी अंतरराष्ट्रीय सीमा को साझा करता है उसके बाद दूसरी सबसे अधिक अंतरराष्ट्रीय सीमा भारत, चीन के साथ साझा करता है जिसके बाद पाकिस्तान के साथ जबकि भारत, अफगानिस्तान के साथ अपनी सबसे कम अंतरराष्ट्रीय सीमा को साझा करता है ।

भारत और पाकिस्तान के बीच की सीमा रेखा :- रेडक्लिफ लाइन

रेडक्लिफ रेखा भारत और पाकिस्तान के बीच की सीमा का निर्धारण करता है भारत की आजादी के समय जब भारत और पाकिस्तान का विभाजन हुआ उसी समय 15 अगस्त 1947 को सर सी.जी. रेडक्लिफ द्वारा भारत और पाकिस्तान के बीच इस सीमा रेखा का निर्धारण किया गया था सर सी.जी. रेडक्लिफ द्वारा इस रेखा का निर्धारण किया गया था जींस के कारण भारत और पाकिस्तान के बीच स्थित इस रेखा को रेडक्लिफ रेखा या रेडक्लिफ लाइन कहा जाता है ।

भारत और चीन के बीच की सीमा रेखा :- मैकमोहन रेखा

भारत और चीन के बीच में स्थित सीमा रेखा को मेकमोहन रेखा कहते हैं यह रेखा भारत और चीन के बीच की अंतरराष्ट्रीय सीमा का निर्धारण करता है इस रेखा का निर्धारण वर्ष 1914 में भारत और चीन के बीच हुए शिमला समझौते के तहत किया गया था इसी समझौते के तहत भारत और चीन के बीच की सीमा का निर्धारण किया गया था ।

मेकमोहन रेखा भारत के अरुणाचल प्रदेश राज्य में स्थित है ।

भारत और अफगानिस्तान के बीच की सीमा रेखा :- डूरंड रेखा

भारत और अफगानिस्तान के बीच की सीमा रेखा को डूरंड रेखा कहा जाता है भारत और अफगानिस्तान के बीच में स्थित इस सीमा रेखा का निर्धारण वर्ष 1896 में किया गया था हालांकि जब भारत और पाकिस्तान का विभाजन हुआ तो  इस सीमा रेखा का अधिकतर भाग पाकिस्तान में चला गया और वर्तमान समय में इस सीमा रेखा का अधिकतर भाग पाकिस्तान और अफगानिस्तान के बीच में ही स्थित है लेकिन फिर भी भारत अफगानिस्तान के साथ अपनी जितने भी सीमा को साझा करता है उसका निर्धारण यही रेखा तय करती है ।

भारत और नेपाल के बीच की सीमा रेखा

अगर हम काली नदी को भारत और नेपाल के बीच की सीमा रेखा कहें तो गलत नहीं होगा क्योंकि काली नदी ही भारत को नेपाल से अलग करता है तथा यही नदी भारत और नेपाल के बीच की सीमा का निर्धारण भी करता है ।

भारत और म्यांमार की सीमा

भारत और म्यांमार के बीच की सीमा रेखा का निर्धारण भारत के मेघालय, मणिपुर, नागालैंड और मीज़ोरम राज्यों में विस्तृत पटकाई की पहाड़ियां करता है यही पहाड़ी भारत और म्यांमार को एक दूसरे से अलग करती है ।

भारत और श्रीलंका के बीच की सीमा रेखा

भारत और श्रीलंका के बीच में 4 सीमा रेखाएं है जो भारत और श्रीलंका दोनों को एक दूसरे से अलग करती है ये सभी चार सीमा रेखाएं हैं – मन्नार की खाड़ी, रामसेतु, पाक जलडमरूमध्य और लक्षद्वीप सागर ।

भारतीय मानक समय ( Bhartiy Manak Samay )

ग्रीनविच समय और भारतीय मानक समय के बीच 5:30 घंटे का अंतर है आपकी जानकारी के लिए हम बता दें कि भारतीय मानक समय ग्रीनविच समय से 5 घंटे 30 मिनट आगे इसलिए अगर आप भारतीय मानक समय को ध्यान से देखेंगे तो आपको दिखाई देगा कि भारतीय मानक समय में +5:30 लिखा होता है ।

भारतीय मानक समय रेखा 82.5 डिग्री पूर्वी देशांतर रेखा है यह रेखा भारत के उत्तर प्रदेश राज्य के इलाहाबाद के निकट स्थित नैनी से होकर गुजरती है यह समय रेखा भारत के 5 राज्यों से होकर गुजरती है ।

वे पांच राज्य जिनसे होकर भारतीय मानक रेखा गुजरती है। 

  1. उत्तर प्रदेश
  2. मध्य प्रदेश
  3. छत्तीसगढ़
  4. उड़ीसा
  5. आंध्र प्रदेश 

कर्क रेखा

कर्क रेखा को पृथ्वी की उत्तरी अक्षांश रेखा भी कहते हैं यह रेखा 23.5° उत्तरी अक्षांश में स्थित है भारत के भौगोलिक स्थिति के निर्धारण में कर्क रेखा का एक महत्वपूर्ण योगदान है क्योंकि कर्क रेखा वह रेखा है जो भारत को लगभग 2 हिस्सों में काटती या विभाजित करती है यह रेखा 23.5° उत्तरी अक्षांश में स्थित है कर्क रेखा भारत के कुल 8 राज्यों से होकर गुजरती है।

भारत के वे 8 राज्य जिनसे होकर कर्क रेखा गुजरती है –

  1. गुजरात
  2. राजस्थान
  3. मध्यप्रदेश
  4. छत्तीसगढ़
  5. झारखंड
  6. पश्चिमम बंगाल
  7. त्रिपुरा
  8. मिजोरम

इन्हें भी पढ़ें :- 

भूगोल की परिभाषा एवं भूगोल के प्रकार और भूगोल की सभी उपशाखाएं

भारत के भूगोल से संबंधित सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी 

भारतीय संविधान के सभी 22 भाग और उनसे संबंधित अनुच्छेद

1 thought on “Indian Geography in Hindi । भारत का भूगोल एवं भौगोलिक स्थिति”

  1. Thanks sir,

    This was really great information.
    This is the one of the most helpful tutorials. I really appreciate your work, please keep it up and help others in such a unique way.
    Thanks

    Reply

Leave a Comment

close
%d bloggers like this: